गौचर मेला 2018

उत्तराखंड में गौचर मेला पहली बार 1943 में आयोजित किया गया था और तब से लगभग हर साल उसी तारीख को हुआ है। उस समय भारत और तिब्बत के बीच व्यापार खुला था। इस तरफ, व्यापार बड़े पैमाने पर भोटिया द्वारा किया गया था, जो तिब्बत सीमा से चमोली गढ़वाल की सीमाओं में रहते हैं|